मार्क जकरबर्ग को इंस्टाग्राम किड्स वर्जन में लॉन्च नही करना चाहिए - डिंपल धीमान

टेक वर्ल्ड : हाल ही में फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने एक निर्णय लिया था। जिसमें उन्होंने इंस्टाग्राम के किड्स वर्जन को लांच करने की के बारे में बताया था । वह इंस्टाग्राम के किड्स वर्जन को लांच करना चाहते थे । तो उनके इस निर्णय पर मार्क जुकरबर्ग को एक एडवोकेसी ग्रुप की तरफ से एक लेटर प्राप्त हुआ जिसमें उस ऐप को ना लांच करने की मांग है । और ऐप को लॉन्च करने को लेकर मार्क जुकरबर्ग को फटकार लगाई गई है । उस लेटर में यह भी लिखा है की 13 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए यह ऐप हानिकारक हो सकती है । क्योंकि 13 साल से कम उम्र का कोई बच्चा अगर उस ऐप का इस्तेमाल करेगा तो वह अपनी प्राइवेसी खतरे में डाल सकता है । हाल ही में फेसबुक के कुछ डाटा भी लीक होने की बात सामने आई है।

मार्क जकरबर्ग को इंस्टाग्राम किड्स वर्जन में लॉन्च नही करना चाहिए - डिंपल धीमान
मार्क जुकरबर्ग की कंपनी इंस्टाग्राम अपने किड्स वर्जन में एक विकल्प देना चाहती है। जो कम उम्र के बच्चों के लिए इस ऐप को इस्तेमाल करना होगा। मार्क जुकरबर्ग ने को भी कंट्रोल देने का वादा किया है।
Commercial free childhood (कमर्शियल फ्री चाइल्डहुड) CFC की ओर से यह कैंपेन चलाया गया है और इसके अंतर्गत ही कमर्शियल फ्री चाइल्डहुड की ओर से मार्क जुकरबर्ग को लेटर भेजा गया है । कमर्शियल फ्री चाइल्डहुड का कहना है कि बच्चे अगर सोशल मीडिया पर मौजूद होंगे तो वह अपनी पोस्ट की गई फोटोस के ऊपर आई प्रतिक्रिया को देखने के लिए बार-बार अपने मोबाइल फोन का इस्तेमाल करेंगे जो कि उनके भविष्य पर नकारात्मक असर डाल सकता है।
सीएफसी के द्वारा भेजे गए लेटर मे जुकरबर्ग से को कहा गया है की अगर बच्चे सोशल मीडिया ऐप से जुड़ेंगे तो वह इस बात पर ज्यादा गौर देंगे कि वह कैसे दिख रहे हैं । और उनकी पोस्ट की गई फोटोस पर क्या रिएक्शन आ रहे हैं । ऐसा होने पर बच्चे अपने भविष्य के बारे में ज्यादा नहीं सोच पाएंगे । उनके विकास और बाकी चीजों पर और उनकी सोचने समझने की क्षमता पर नकारात्मक असर पड़ सकता है।

अगर बच्चे सोशल मीडिया नेटवर्क से जुड़ेंगे तो उनकी प्राइवेसी और डेटा सुरक्षा को बहुत बड़ी हानि हो सकती है । और सोशल नेटवर्क को वैसे भी प्राइवेसी और डेटा सुरक्षा के लिए बहुत ही बड़ा खतरा बताया जा चुका है। क्योंकि इसमें डाटा चोरी के मामले लगातार सामने आते रहते हैं।

आजकल तो वैसे भी डाटा लीक होने की बहुत सी सूचनाएं मिलती रहती है । जोकि यूजर्स की के गोपनीयता के साथ खिलवाड़ है। 
इस लेटर में यह भी कहा गया है कि फैमिली डाटा को एकत्रित करना इंस्टाग्राम और फेसबुक के लिए अच्छा होगा । लेकिन अगर बच्चे इंस्टाग्राम पर होंगे तो है प्लेटफार्म के फीचर्स के साथ डाटा का गलत इस्तेमाल होगा ।

कुछ समय पहले फेसबुक पर कोरोना महामारी और बहुत सारी झूठी जानकारी फैलाने पर फेसबुक की आलोचना की गई थी ।

अभी कुछ समय पहले ही हमें सूचना सुनने को मिली थी जिसमें बताया गया था फेसबुक का करोड़ों यूज़र्स का डाटा ब्लेक मार्केट में लिक हुआ है ।और यह है उन सभी यूजर्स की उनकी गोपनीयता के साथ खिलवाड़ है जोकि एक गलत बात है।

एक टिप्पणी भेजें

Ram Ram Ji

और नया पुराने