किसी को गम देकर ख़ुशियाँ पाना मुझे अच्छा नही लगता | Sad Shayar “डिंपल धीमान”

Sad Shayari





💢

किसी को गम देकर ख़ुशियाँ पाना मुझे अच्छा नही लगता,

किसी के रिश्तों के बीच में आना मुझे अच्छा नही लगता,

चाहे बात मतलब की हो या किसी बिना मतलब की यारो,

औरों की तरह किसी का दिल दुखाना मुझे अच्छा नही लगता।





💢

आसमान पर गए अहम को कभी उतारना भी पड़ता है,

खुश होने के लिए कभी खुशियों को मारना भी पड़ता है,

सब कहतें है की सिर्फ जीतने से ही खुशियां मिलती है,

पर बात प्यार की हो तो कभी कभी हारना भी पड़ता है,





💢
 सब छोड़ गए थे मुझे एक बारिश थी जो मेरे साथ रोती रही,

मैं भीगता रहा खुद की बारिश में और बाहर बरसात होती रही,

मैं सोना चाह रहा था एक नींद चैन से दो घड़ी आराम से,

पर किसीकी याद की वजह से ये आंखे वो नींद खोती रही।।

राघव कश्यप शायरी








💢
यहाँ ढूंढने पर भी कभी इंसान में इंसान नही मिलता,

चेहरे से भोला हर कोई शख्स यहां नादान नही मिलता,

मैं मन्दिर से पहले घर के देवी देवताओँ की पूजा करता हूँ,

के माता पिता से बड़ा इस दुनिया में कोई भगवान नही मिलता,





💢
सफ़र की बीच राह से ही मुझे वापिस मोड़ा गया था,

बहुत से ख्वाब दिखाकर मुझे फिर दिल तोड़ा गया था,

जिसने मंज़िल तक साथ चलने के वादे किए थे वो बदल गया,

कुछ इस कदर ही अपना बनाकर मुझे यारो छोड़ा गया था।


Motivational Quotes





💢
मतलबियों की दुनियाँ में एक बेमतलब पहचान बनाये रखी,

झूठी इस दुनियाँ में हमने भी एक झूठी मुस्कान बनाये रखी,

वो जीत तो गए है दुनियाँ को पर हमसे मोहब्बत में हार गए,

बस हुस्न के ही एक नाम पर उन्होंने एक झूठी शान बनाये रखी।


💢
कहने को करीब सब, पर गम में कोई पास आता नही है,

सब गलती बता देते है, पर उसे कोई बात समझाता नही है,

और झूठी कसमें खा लेते है लोग बस दिखावे की खातिर ,

सब कहने की बातें हैं, असल में कोई साथ निभाता नही है,


💢

के हैं जख्म भी इतने जिन्हें हम सी नही पा रहे है,

गम मिलें है बेहिसाब और उन्हें हम पी नही पा रहे है,

ये दुनियां हमसे बिना किसी बात के नफरत करती है,

और ख़ुद से ही नफ़रत करके हम जी नही पा रहे है।


💢



2 टिप्पणियाँ

Ram Ram Ji

और नया पुराने